मंझिलाडीह ग्राम पंचायत

ग्राम पंचायत के अंदर आने वाले गाॅंवों के नाम:- विषनपुर, संरण्डा, डुमरुवा, भलुआ, मंझिलाउीह, कलालटोला,। गाॅंव का इतिहास:- पंचायत के कुल 06 गाॅंव आते है। इस पंचायत की आबादि लगभग 6000 है। पंचायत के अंदर 8 जाति के लोग रहतें हैं। सभी लोग आपस में मिलजुलकर रहते हैं। More »

मंझिलाडीह ग्राम पंचायत

ग्राम पंचायत के अंदर आने वाले गाॅंवों के नाम:- विषनपुर, संरण्डा, डुमरुवा, भलुआ, मंझिलाउीह, कलालटोला,। गाॅंव का इतिहास:- पंचायत के कुल 06 गाॅंव आते है। इस पंचायत की आबादि लगभग 6000 है। पंचायत के अंदर 8 जाति के लोग रहतें हैं। सभी लोग आपस में मिलजुलकर रहते हैं। More »

मंझिलाडीह ग्राम पंचायत

ग्राम पंचायत के अंदर आने वाले गाॅंवों के नाम:- विषनपुर, संरण्डा, डुमरुवा, भलुआ, मंझिलाउीह, कलालटोला,। गाॅंव का इतिहास:- पंचायत के कुल 06 गाॅंव आते है। इस पंचायत की आबादि लगभग 6000 है। पंचायत के अंदर 8 जाति के लोग रहतें हैं। सभी लोग आपस में मिलजुलकर रहते हैं। More »

 

मंझिलाडीह ग्राम पंचायत

Manjhiladih (6)

ग्राम पंचायत के अंदर आने वाले गाॅंवों के नाम:- विषनपुर, संरण्डा, डुमरुवा, भलुआ, मंझिलाउीह, कलालटोला,।
गाॅंव का इतिहास:- पंचायत के कुल 06 गाॅंव आते है। इस पंचायत की आबादि लगभग 6000 है। पंचायत के अंदर 8 जाति के लोग रहतें हैं। सभी लोग आपस में मिलजुलकर रहते हैं। सरण्डा गाॅंव में आज भी पूर्वज राजा का भण्डार देखने को है। लोगों का नजदिकी बाजार भरकटा है, जो षनिवार को लगता है। पंचायत में धान, गेहॅंू, मंडुवा, मकई, गोंदली की ,खेती साल में एक ही बार होती है। सिंचाई साधन उपल्बध नहीे रहने के कारण हरी सब्जी की खेती न के बराबर हो पाती है। यहाॅं का मुख्यतः लोग खेती पर ही निर्भर करते हैं। करमा, जितिया, दषहरा, होली, रामनवमी, इद, रमजान आदि त्योहार मनाये जाते हैं। पंचायत चुनाव के बाद विकास की एक नई उम्मिद की जा रही है।